July 06, 2022
BREAKING NEWS
  • नूपुर शर्मा को "सारे देश से माफी मांगनी चाहिए" : सुप्रीम कोर्ट
  • अमरिंदर सिंह भाजपा में शामिल होंगे
  • शिंदे सरकार चार जुलाई को साबित करेगी बहुमत, फडणवीस ने की अहम बैठक
  • देश के पहले पालयट रहित लड़ाकू विमान का डीआरडीओ ने किया सफल परीक्षण
  • जून 2022 में जीएसटी कलेक्शन 1.44 लाख करोड़, पिछले साल से 56 फीसदी ज्यादा
  • महाराष्ट्र के एकनाथ शिंदे सीएम बनते ही संजय राउत के बदले
  • नुपुर शर्मा को सुप्रीम कोर्ट की फटकार, कहा- पूरे देश से माफी मांगे विवादित टिप्पणी के लिए
Revolution Slider Error: Slider with alias home_full not found.

Random Posts

रहमान

रहमान

संजोग वॉल्टर। रहमान का जन्म अफ़ग़ानिस्तान के पद्च्युत राजघराने में 23 जून 1923 को हुआ था। उनका बचपन लाहौर में बीता। बाद में उनके पिता सरदार अब्दुल रहमान जबलपुर आकर बस गए। यहां के रॉबर्टसन कॉलेज में रहमान की शिक्षा हुई। इसी दौरान स्वाधीनता-आंदोलन में भाग लेने की वजह से वे जेल भी गए। बाद […] Read more

इमारतों का बादशाह

इमारतों का बादशाह

जयंती पर विशेष-  शाहजहां का जन्म 5 जनवरी 1592 को लाहौर में हुआ था । उसकी माता मानवती {जगतगुसाई] थी, जो राजपूत राजकुमारी थी । जोधपुर के मोटाराज उदयसिंह की पुत्री थी । शाहजहां के बचपन का नाम खुर्रम था और पिता का नाम जहांगीर उर्फ सलीम था । खुसरो और परवेज शाहजहां के बड़े भाई […] Read more

मोहम्मद बरकतुल्ला 

मोहम्मद बरकतुल्ला 

जयंती पर विशेष। । एजेंसी । मोहम्मद बरकतुल्ला  भारत के राष्ट्रीय आन्दोलन के बड़े नेता, क्रांतिकारी और ग़दर पार्टी के नेता थे। मोहम्मद बरकतुल्ला का जन्म 7 जुलाई 1854 को सेंट्रल प्रोविंस अब मध्य प्रदेश के भोपाल में हुआ था। अमरीका, योरुप , जर्मनी, अफगानिस्तान, जापान और मलाया में हिन्दुस्तानियों के बीच उन्होंने अँगरेज़ साम्राजयवाद के […] Read more

नामवर सिंह

नामवर सिंह

नई दिल्ली। एजेंसी। नामवर सिंह  हिन्दी के शीर्षस्थ शोधकार-समालोचक, निबन्धकार तथा मूर्द्धन्य सांस्कृतिक-ऐतिहासिक उपन्यास लेखक हजारी प्रसाद द्विवेदी के प्रिय शिष्‍य रहे। अत्यधिक अध्ययनशील तथा विचारक प्रकृति के नामवर सिंह हिन्दी में अपभ्रंश साहित्य से आरम्भ कर निरन्तर समसामयिक साहित्य से जुड़े हुए आधुनिक अर्थ में विशुद्ध आलोचना के प्रतिष्ठापक तथा प्रगत... Read more

Recent Posts

शहीद कैप्टन मनोज कुमार पांडे PVC

एजेंसी। शहीद कैप्टन मनोज कुमार पांडे, परमवीर चक्र विजेता, मात्र 24 साल की उम्र में ही देश के लिए अपने प्राण न्योछावर कर गए। लेकिन अपनी शहादत से पहले वो करगिल जंग की जीत की बुनियाद रख चुके थे। 1999 में तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी अमन और भाईचारे की बस लेकर ला... Read more

Recent Posts

शहीद कैप्टन मनोज कुमार पांडे PVC

एजेंसी। शहीद कैप्टन मनोज कुमार पांडे, परमवीर चक्र विजेता, मात्र 24 साल की उम्र में ही देश के लिए अपने प्राण न्योछावर कर गए। लेकिन अपनी शहादत से पहले वो करगिल जंग की जीत की बुनियाद रख चुके थे। 1999 में तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी अमन और भाईचारे की बस लेकर ला... Read more

(C) SWAPNIL SANSAR 2022